Protest against forcible land acquisition at Godda

 

Prakash Viplav

In the district of Godda, Santhal Pargana region, a power plant with capacity of 1600 mw electricity is set-up by Prime Minister’s most favourite person Mr. GOUTAM ADANI, and for this purpose Adani Power Ltd. need five thousand acre of land. To fulfil this need Godda administration is trying to acquire land by hook or crook in the direction of BJP led government in Poraiyahaat & Godda block of the district. The villagers are opposing this process because this procedure happening by conducting false   gram sabha and public hearing. Continue reading

Advertisements

मोमेंटम झारखण्ड के पीछे की राजनीति

भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार या पूंजीपरस्त मीडिया हमें जो भी समझाने पे आमादा हो, हमें मोमेंटम झारखण्ड के पीछे की राजनीति को समझाना होगा| यदि हम झारखण्ड की समाज-व्यवस्था को देखें, तो निश्चित तौर पे यहाँ खासकर यहाँ के ग्रामीण इलाकों में पूंजीवाद का असर सीमित है| पर साथ ही यहाँ के समाज को हम सनातन (क्लासिकल) सामंती समाज भी नहीं कह सकते| बल्कि अगर देखा जाय तो झारखण्ड के देहातों में खास कर आदिवासी बहूल क्षेत्रों में आज भी आदिम साम्यवादी समाज के अवशेष बचे हुए हैं| गाँव के चरागाहों पर, जलाशयों पर, जंगलों पर आज भी सामाजिक मिलकियत यहाँ दिखाई देता है| Continue reading

Momentum Jharkhand — श्रम एवं रोजगार

“www.Momentum Jharkhand” वेब साईट पर उपलब्ध दस्तावेजो के मुताबिक झारखंड सरकार  ने 210 MoUs के रास्ते 3.5 लाख करोड़ के निवेश पर हस्ताक्षर किये , 6 लाख (2लाख प्रत्यक्ष एवं  4 लाख अप्रतक्ष्य ) रोजगार 14 क्षेत्र के 88 प्रोजेक्ट मे मिलेंगे .  अधिकांश क्षेत्र, सघन श्रम आधारित नही है .

झारखंड सरकार द्वारा पूर्ववर्ती MOU के हालात :- झारखंड सरकार के उद्योग विभाग द्वारा 2010 मे झारखंड उच्च न्य्यालय को  दिये गए  एफिडेविट के मुताबिक  74 MoU किये गए जिनमे   16 आंशिक रूप से लागु हुए ,19 निरस्त हो गए ,5 निरस्त होने के क्रम मे है . Continue reading

मोमेंटम झारखण्ड : ज़मीन लूट की तैयारी

 पूंजी निवेश कराकर  झारखण्ड विकास की बात हो रही है I निवेश के बदले – झारखण्ड की संसाधन मुहैया की जा रही है I यह सच है की झारखण्ड में प्राकृतिक संसाधन प्रचूर मात्रा में मौजूद है- जैसे- कोयला, तांबा, सोना, लोहा, यूरेनियम , ग्रेनाइट, ग्रेफाइट, अबरक, आदि I Continue reading

MOMENTUM JHARKHAND – पूंजी निवेश की दिशा

1991 मे नरसिम्हा राव के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार द्वारा   अंतराष्ट्रीय मुद्रा कोष एवं विश्व बैंक के हिदायत मे लाई गई नई आर्थिक नीति से देश मे एक बड़ा  नीतिगत बदलाव हुआ I नव उदारवादी आर्थिक  सुधारों मे सार्वजनिक प्रतिष्ठान की जगह अनिन्त्रित देशी एवं विदेशी निजी पूंजी निवेश को ही विकास का आधार माना गया I.इसी नवउदारवादी आर्थिक नीति से ही विश्वीकरण का दौर शुरू हो गया I Momentum Jharkhand – भाजपा राज्य सरकार द्वारा आयोजित देशी एवं विदेशी पूंजीगत घरानों का यह महोत्सव UPA and NDA द्वारा संपोषित नवउदारवादी नीति का नमूना है I Continue reading