CPIM visited waterless village at Jharkhand

latehar water crisis 01झारखंड, लातेहार।

आदिवासी व आदिम जाति के परिवार, पशुओं और जंगली जानवरों की जुठे व दुषित पानी से बुझा रहे हैं आपनी प्यास।

CPIM ने किया पेयजल संकट चटुआग गांव का दौरा

विभाग और पंचायत प्रतिनिधियो की लापरवाही से जानवरों की जुठे पानी पीने को विवश हैं आदिवासी ग्रामीण। सरहुल पुजा भी ईसी जुठे पानी से किया जाता है, यह मामला झारखंड के जिला लातेहार अंतर्गत प्रखंड चंदवा के कामता पंचायत के ग्राम चटुआग की परहैया टोला पहना पानी की है। जहां पेयजल संकट की समस्या गहराया हुआ है, टोले के आदिवासी, आदिम जाति परिवार, व पशु, कुत्ता, बिल्ली और जंगली जानवर नाला मे बने एक ही चुआंडी से दुषित पानी का सेवन कर अपनी प्यास बुझा रहे हैं, विभाग और पंचायत प्रतिनिधियो की लापरवाही के कारण वर्षो से ग्रामीण, पशुओं और गली जानवरों के जुठे पानी पीने को विवश है. Continue reading

Advertisements